Print Friendly
भीड़ के पीछे भागना बंद करो और अपने टेलेंट और स्किल को पहचानो

भीड़ के पीछे भागना बंद करो और अपने टेलेंट और स्किल को पहचानो

एक बार की बात है किसी शहर में एक लड़का रहता था जो बहुत गरीब था। मेंहनत मजदूरी करके बड़ी मुश्किल से 2 वक्तका खाना जुटा पाता । एक दिन वह किसी बड़ी कंपनी में चपरासी के लिए इंटरव्यू देने गया । बॉस ने उसे देखकर उसे काम दिलाने का भरोसा जताया ।जब बॉस ने पूछा -”तुम्हारी email id क्या है”? लड़के ने मासूमियत से कहा कि उसके पास email id नहीं है । ये सुनकरबॉस ने उसे बड़ी घृणा दृष्टि से देखा और कहा कि आज दुनिया इतनी आगे निकल गयी है , और एक तुम हो कि email id तक नहीं है , मैं तुम्हें नौकरी पर नहीं रख सकता ।ये सुनकर लड़के के आत्मसम्मान को बहुत ठेस पहुंची , उसकी जेब में उस समय 50 रुपये थे । उसने उन50 रुपयों से 1 किलो सेबखरीद कर वह अपने घर चलता बना। वह घर घर जाकर उन सेबोंको बेचने लगा और ऐसा करके उसने 80 रुपये जमा कर लिए ।अब तो लड़का रोज सेब खरीदता और घर घर जाकर बेचता ।सालों तक यही सिलसिला चलता रहा लड़के की कठिन मेहनत रंग लायी और एक दिन उसने खुद की कंपनी खोलीजहाँ से विदेशों में सेब सप्लाई किये जाते थे । उसके बाद लड़के ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और जल्दी ही बहुत बड़े पैमानेपर अपना बिज़नेस फैला दिया और एक सड़क छाप लड़का बनगया अरबपति ।एक कुछ मीडिया वाले लड़के का इंटरव्यू लेने आये औरअचानक किसी ने पूछ लिया – “सर आपकी email id क्याहै”?? लड़के ने कहा -”नहीं है “, ये सुनकर सारे लोग चौंकने लगेकि एक अरबपति आदमी के पास एक “email id” तक नहीं है ।लड़के ने हंसकर जवाब दिया -”मेरे पास email id नहीं है इसीलिए मैं अरबपति हूँ , अगर email id होती तो मैं आज एक चपरासी होता”।मित्रों , इसीलिए कहा जाता है कि हर इंसान के अंदर कुछना कुछ खूबी जरूर होती है, भीड़ के पीछे भागना बंद करो और अपने टेलेंट और स्किल को पहचानो । दूसरों से अपनी तुलना मत करो कि उसके पास वो है मेरे पास नहीं है , जो कुछ तुम्हारे पास है उसे लेकर आगे बढ़ो फिर दुनियां की कोई ताकत तुम्हें सफल होने से नहीं रोक सकती

Print Friendly

About author

Vijay Gupta
Vijay Gupta1095 posts

State Awardee, Global Winner

You might also like

Motivational Stories0 Comments

पर वह अन्दर से बदल गया, कठोर हो गया, सख्त दिल बन गया।

कुछ दिनों से उदास रह रही अपनी बेटी को देखकर माँ ने पूछा, ”क्या हुआ बेटा, मैं देख रही हूँ तुम बहुत उदास रहने लगी हो, सब ठीक तो है


Print Friendly
Motivational Stories0 Comments

नर्स की बाते सुनकर बाप की आँखो मेँ खामोस आँसू बहने लगे ।

एक डॉक्टर को जैसे ही एक urgent सर्जरी के बारे में फोन करके बताया गया. वो जितना जल्दी वहाँ आ सकते थे आ गए. वो तुरंत हि कपडे बदल कर


Print Friendly
Motivational Stories0 Comments

'भूखा सो लूँगा, लेकिन बीयर की बोतल के बदले तिरंगा नही बेचूंगा '

चौराहे पर खड़ा बच्चा 2-2 रूपये में तिरंगा बेच रहा था । आने – जाने वाले लोग गाड़ी का शीशा निचा कर तिरंगा खरीद कर शान से अपनी गाड़ी के


Print Friendly