You might also like

Motivational Stories0 Comments

जो बात बात मे गरम हो जाये उलझ जाये वह काँच जो विपरीत परिस्थिति मे भी ठंडा रहे वह हीरा है !!!

एक राजा का दरबार लगा हुआ था क्योंकि सर्दी का दिन था इसलिये राजा का दरवार खुले मे बैठा था पूरी आम सभा सुबह की धूप मे बैठी थीl महाराज


Print Friendly
Motivational Stories0 Comments

हम में से एक का नाम दौलत है दूसरे का नाम कामयाबी और तीसरे का नाम मुहब्बत है।

एक औरत अपने घर से बाहर निकली तो देखा कि तीन नूरानी सूरत बुज़ुर्ग उसके घर के बाहर बैठे थे । उस औरत ने कहा कि मैँ आप को जानती


Print Friendly
Motivational Stories0 Comments

याद रखना जिसके पास यह मोती है, वह दुनिया में कुछ भी प्राप्त कर सकता है।

एक साधु था , वह रोज घाट के किनारे बैठ कर चिल्लाया करता था ,”जो चाहोगे सो पाओगे”, जो चाहोगे सो पाओगे।” बहुत से लोग वहाँ से गुजरते थे पर


Print Friendly